रक्त की कमी लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
रक्त की कमी लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

सोयाबीन खाने के फायदे और नुकसान

                          
प्रोटीन और कई पोषक तत्वों से भरपूर सोयाबीन और उसके व्यंजनों को आप मजेदार स्वाद के लिए जरूर खाते होंगे, लेकिन क्या आप जानते हैं कि यह सोयाबीन सेहत और सौंदर्य से जुड़े बेहतरीन फायदे भी दे सकता है।
सोयाबीन गुणों का खजाना हैं यह बात पूरी तरह सच हैं लेकिन हर एक चीज को उपयोग करने का एक तरीका होता हैं और अगर उसे सही तरीके से उपयोग ना किया जाये तो वह फायदे के साथ साथ नुकसान भी कर सकती हैं आईए यहाँ जाने सोयाबीन के फायदे उपयोग और नुकसान (Soybean benefits uses and side effects in Hindi) के बारे में। सोया प्रोटीन और आइसोप्लेवोंस से भरपूर डाइट होती हैं जिसके सेवन से हडडियों को कमजोर होने के खतरे से बचाया जा सकता है| सोयाबीन से बनी चीजो में आइसोप्लेबोंस नामक रसायन होता है जिससे महिलाओ को आस्टियोपोरेसिस के खतरे से बचाया जा सकता हैं|
यहाँ जाने सोयाबीन को उपयोग करने का सही तरीका क्या है।
सोयाबीन एक प्रकार का बीज होता हैं जिसको आप गैहू के साथ में पिसवाकर या भिगोकर खाने के काम में ले सकते है|
सोयाबीन को आप रात भिगोने के बाद उबाल के भी खाने में उपयोग ले सकते है।
गेहूँ के साथ भी पिसवाकर रोटियां बना के खा सकते हो सोयाबीन को पानी में भिगोकर पानी से निकालकर सुखाकर आटा पिसवाकर गेहूँ के आटे में भी मिलाकर तैयार कर खाया जा सकता है।
सोयाबीन खाने के फायदे
उच्च रक्तचाप में
सोयाबीन के फायदे अनेक है और अगर आप उच्च रक्तचाप ग्रसित हैं सोयाबीन उच्च रक्तचाप को कम करने में लाभदायक होता है इसके साथ साथ वो रक्तचाप को बढने भी नहीं देता है। रक्तचाप को नियंत्रित करने के लिए आप कम नमक के साथ भुना हुआ सोयाबीन खा सकते है नमक के साथ साथ आप काली र्मिच भी डाल के भी सेवन कर करते है सोयाबीन 5-6 प्रतिशत उच्च रक्तचाप को कम करता है। तले हुए सोयाबीन का सेवन यदि महिलाएं करे तो उनको उच्च रक्तचाप में निजात प्राप्त होता है।
एनीमिया में
एनीमिया यानी की शरीर में रक्त की कमी , और यह एक भयानक रोग है जिसका इलाज सोयाबीन में छुपा हुआ है | आप रोजाना सोयाबीन के तेल से बनी सब्जी का सेवन कीजिए या फिर इसके दूध का सेवन कीजिए जिससे आपके शरीर में रक्त की भरपूर मात्रा होगी और आपको एनीमिया से मुक्ति मिलेगी |गर्भवती महिलाओं के लिए
गर्भावस्था में भी महिलाओं को सोयाबीन सेवन करना चाहिए| सोयाबीन में आयरन की मात्रा पायी जाती हैं यह खून बढ़ाने में भी सहायक होता हैं! सोयाबीन से बनी चीजों में आईसोप्लेबोंस नामक रसायन होता है जिससे महिलाओं को अस्टियोपोरेसिस के खतरे से बचाया जा सकता हैं|
मासिक धर्म में
महिलाओं के मासिक धर्म बन्द होने से शरीर में एस्ट्रोजन की मात्रा कम होने लगती है जिससे घुटनों में दर्द पेट का भारी होना कमर में दर्द रहने लगता है| इस स्थिति में महिलाओं के लिए सोयाबीन बहुत ही लाभकारी होता है। कुछ समय तक सोयाबीन का उपयोग करने से महिलाओं की समस्याएं कम होती है। इसके साथ सोयाबीन का सेवन मासिक धर्म में होने वाले सूजन, कमर में दर्द पेट में दर्द जैसी समस्याओं में निजात दिलाता है।
हड्डियों की मजबूती
सोयाबीन हड्ड‍ियों के लिए लाभदायक है। यह हड्ड‍ियों को पोषण देता है जिससे वे कमजोर नहीं होती और हड्डी टूटने का खतरा भी कम होता है। इसका सेवन हड्ड‍ियों की सघनता को बढ़ाने में सहायक है।
सोयाबीन में मौजूद प्रोटीन और कैल्शियम हमारे शरीर में जाकर हमारी हड्डियों की मजबूत बनाता है | अगर आपके शरीर में कैल्शियम को कमी है या फिर आपकी हड्डियाँ कमजोर है तो आप इसका सेवन रोजाना करे जिससे आराम मिलेगा |
सोयाबीन के तेल के फायदे
Soybean सोयाबीन के खाने फायदे से तो अब आप अच्छी तरह वाकिफ हो ही चुके होगें। सोयाबीन से बने तेल के बारे में ज्यादातर घरों में सब्जी पराठें आदि बनाने में सोयाबीन का तेल उपयोग में लिया जाता है यह हदृय रोगियों के साथ साथ यह सभी के लिए भी लाभदायक है। सोयाबीन का तेल सोयाबीन के बीजों से निकाला जाता है। सोयाबीन का तेल अन्य खाद्य तेलों की उपेक्षा हमारे शरीर के लिए ज्यादा लाभकारी होता है। चिकित्सक भी आजकल सोयाबीन से बने तेल का ही उपयोग करने की सलाह देत है। हमारे शरीर की हड्डियों को मजबूत बनाने में मानसिक तनाव को कम करने में लाभदायक है तथा नियमित सेवन से याददाश्त बढाने में मदद मिलती है।
मधुमेह के रोगियों को सोयाबीन के तेल से बनी चीजों का ही सेवन अत्यधिक लाभदायक है। सोयाबीन के तेल में विटामिन ई अधिक पाया जाता है। हम गर्मी में धूप में बाहर निकलते है धूप की तेज किरण हमारी त्वचा में जलन पैदा करती है सोयाबीन के तेल उपयोग करने से त्वचा की जलन से छूटकारा मिलता है।
गठिया रोग
Soybean सोयाबीन से बना दूध व रोटियां गठिया रोग में भी लाभदायक होता हैं|
मधुमेह रोग में
मुधमेह रोगियों को सोयाबीन का सेवन करने से मूत्र सम्बन्धित परेशानी से निजात मिलता है मधुमेह रोगी को सोयाबीन से बनी रोटी आदि का सेवन करना लाभदायक है।
अंकुरित सोयाबीन
सोयाबीन को अंकुरित करके खाना भी हमारी सेहत के लिए लाभदायक होता है! खून को बढ़ाने पेट की बीमारियों को ठीक करने हमारे शरीर में आयरन की मात्रा को बढ़ाने व वजन बढाने में भी अंकुरित सोयाबीन फायदेमंद होता है।
शारीरिक विकास में
अगर आपका शारीरिक विकास नहीं हो रहा है या नाखून बाल आदि नहीं बढ रहे है तो सोयाबीन का सेवन इनके विकास में भी सहायक है। सोयाबीन मिर्गी याददाश्त बढ़ाने व दिमागी कमजोरी को दूर करता है।
सोयाबीन खाने के नुकसान
हर चीज की अति बुरी होती है सोयाबीन का ज्यादा उपयोग भी हमारे शरीर के लिए लाभदायक होने के साथ साथ हानिकारक भी होता है। सोयाबीन खाने के लाभ के साथ साथ सोयाबीन खाने के कुछ नुकसान भी होते है आईए अब हम सोयाबीन के नुकसान के बारे में भी जाने|
दिल की बिमारी वाले लोगो को सोयाबीन का उपयोग कम करना चाहिए या सीमित मात्रा में करना चाहिए।
सोयाबीन में टांस फैट होता है जो की हाई कालेस्ट्राल और दिल की बीमारियों को बढ़ाता है।
सोयाबीन के अधिक सेवन से शरीर में एस्ट्रोजन की मात्रा बढ़ जाती है।
यदि आप फैमली प्लानिंग करने के बारे में सोच रहे है या फैमली प्लानिंग करना चाहते है तो सोयाबीन के सेवन से बचे क्योंकि सोयाबीन स्पर्म की संख्या को कम करता है।
सोयाबीन  की ज्यादा मात्रा से सेक्स प्रॉब्लम हो जाती है और उनके हार्मोन, लिबिडो पावर, स्‍पर्म और प्रजनन पॉवर का स्तर प्रभावित हो सकता है।
गुणों का खजाना होने के साथ साथ हानिकारक भी होता है। सोयाबीन के अधिक सेवन वजन भी बढ़ता है व अधिक सेवन से किडनी की समस्या वाले लोगो को इसके सेवन से बचना चाहिए|

किडनी फेल (गुर्दे खराब) की हर्बल औषधि 

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि 

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि 

आर्थराइटिस(संधिवात)के घरेलू ,आयुर्वेदिक उपचार