ब्लड प्रेशर और कोलेस्ट्रॉल लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
ब्लड प्रेशर और कोलेस्ट्रॉल लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

ज्यादा उम्र मे हार्ट अटेक रोकने के उपचार


हार्ट अटैक एक ऐसी स्थिति है जिसमें हृदय शरीर को रक्त की पर्याप्त आपूर्ति नहीं कर पाता है। रक्त की आपूर्ति की कमी के कारण शरीर के विभिन्न अंग ठीक से काम नहीं कर पाते हैं। यह हृदय की मांसपेशियों के कमजोर होने और रक्त को पंप करने की प्रक्रिया को धीमा करने का संकेत देता है, जिससे भविष्य में गंभीर जटिलताएं हो सकती हैं।
40 साल की उम्र से पहले अगर आपने अपना कोलेस्ट्रॉल और ब्लड प्रेशर कंट्रोल कर लिया, तो बुढ़ापे में आपको हार्ट अटैक का खतरा नहीं होगा। हाल में हुए एक अध्ययन में इस बात का दावा किया गया है कि 40 साल की उम्र से पहले अगर आप बीमार पड़ते हैं, तो इसका असर आपके बुढ़ापे पर भी पड़ता है। यहां आपके लिए यह जान लेना जरूरी है कि दुनियाभर में होने वाली सबसे ज्यादा मौतों का कारण 'हार्ट अटैक (Heart Attack)' है
कितना होना चाहिए ब्लड प्रेशर और कोलेस्ट्रॉल
इस अध्ययन के मुताबिक अगर युवावस्था में आपके शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल (LDL) का लेवल 100 mg/dL या इससे ज्यादा हो जाए, तो बुढ़ापे में दिल की बीमारियों का खतरा 64% तक बढ़ जाता है। ये अध्ययन जर्नल ऑफ अमेरिकन कॉलेज ऑफ कार्डियोलॉजी में छापा गया है। इसी अध्ययन में यह भी बताया गया है कि अगर आपका ब्लड प्रेशर 130 mm Hg या इससे ज्यादा है, तो बुढ़ापे के दिनों में आपको हार्ट अटैक आने की संभावना 37% तक बढ़ जाती है।
स्वस्थ रहना चाहते हैं, तो इंतजार न करें
अक्सर देखा जाता है कि युवा लड़के-लड़कियां सोचते हैं कि 25-30 की उम्र तक जो भी खाना-पीना है, वो खा लिया जाए, इसके बाद परहेज कर लेंगे। मगर आपको बता दें कि अगर आप स्वस्थ रहना चाहते हैं, तो इंतजार न करें। आज से ही आपको बाहर के प्रॉसेस्ड फूड्स और जंक फूड्स खाने के बजाय घर पर बना खाना खाना चाहिए और अपनी डाइट में फल और सब्जियों को शामिल करना चाहिए।
कैसे की गई रिसर्च
इस रिसर्च के लिए 17 साल से बड़ी उम्र के 36,030 लोगों के ब्लड प्रेशर, कोलेस्ट्रॉल और कार्डियोवस्कुलर हेल्थ का डाटा इकट्ठा किया गया। रिसर्च के बाद शोधकर्ताओं ने बताया कि 40 की उम्र के पहले शरीर में बढ़ा हुआ बैड कोलेस्ट्रॉल दिल की अलग-अलग बीमारियों से जुड़ा हुआ है। इसी तरह 40 की उम्र के पहले बढ़ा हुआ ब्लड प्रेशर, हार्ट फेल्योर का कारण बनता है।
बाद में हेल्दी चीजें खाने से नहीं टलेगा खतरा
शोधकर्ताओं के मुताबिक युवा लड़के-लड़कियों को समझना चाहिए कि अच्छी और लंबी जिंदगी जीना महत्वपूर्ण है, मगर अगर आप कुछ समय तक अनहेल्दी चीजें खाएं और फिर हेल्दी चीजें खाने लगें, तो इससे खतरा टल नहीं जाएगा। हेल्दी चीजों से मतलब ऐसी चीजें हैं, जिनसे आपको पर्याप्त पोषक तत्व और एंटीऑक्सीडेंट्स मिल सकें जैसे- हरी सब्जियां, रंगीन फल, नट्स, मसाले आदि। अगर आप स्वस्थ रहना चाहते हैं तो आज से ही आपको अपने खानपान की आदतें बदलनी पड़ेंगी, क्योंकि बाद में किए गए बदलाव का इन रोगों से बचाव में ज्यादा प्रभाव नहीं पड़ता है।
रोजाना थोड़ी देर एक्सरसाइज जरूर करें
सही खानपान के साथ स्वस्थ रहने के लिए एक्सरसाइज भी बहुत जरूरी है। पहले हुई तमाम रिसर्च बताती हैं कि कोलेस्ट्रॉल, ब्लड प्रेशर, डायबिटीज, मोटापा, हार्ट अटैक जैसे रोगों से बचने के लिए सप्ताह में 150 मिनट व्यायाम करना बहुत जरूरी है। सप्ताह में 150 मिनट यानी सप्ताह के 5 दिन 30 मिनट व्यायाम करना आपके लिए पर्याप्त होगा। जिंदगी भर स्वस्थ रहने के लिए आप इतना समय तो निकाल ही सकते हैं।
दिल की स्थिति का तुरंत इलाज करें
यदि आपको हृदय से संबंधित कोई असमान्‍य स्थितियां हैं, तो आपको जल्द से जल्द उनका इलाज करना चाहिए क्योंकि ऐसी स्थितियां दिल की विफलता को बढ़ा सकती सकती हैं। आपको अपने रक्तचाप को नियंत्रित करना चाहिए और हृदयघात की संभावना को कम करने के लिए अपने कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करना चाहिए। आपको दवाओं पर बहुत अधिक निर्भरता से भी बचना चाहिए।
पित्त पथरी (gallstone) के घरेलू ,आयुर्वेदिक उपचार 

किडनी निष्क्रियता की हर्बल औषधि 

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि 

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि