पाचन के लिए लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
पाचन के लिए लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

अमचूर खाने के स्वास्थ्य लाभ



अमचूर खाने के बहुत सारे फायदे और लाभ होते हैं। क्‍या आप अमचूर के फायदे और नुकसान से वाकिफ हैं। भारत में विभिन्‍न प्रकार के व्‍यंजनों को बनाने में अमचूर का विशेष रूप से उपयोग किया जाता है। अमचूर खाने के फायदे न केवल भोजन का स्‍वाद बढ़ाने बल्कि कई प्रकार के स्‍वास्‍थ्‍य लाभ दिलाने में भी सहायक होते हैं। अमचूर का उपयोग वजन कम करने, हृदय को स्‍वस्‍थ रखने, पाचन ठीक करने, आंखों को स्‍वस्‍थ रखने, कोलेस्‍ट्रॉल कम करने और मधुमेह को रोकने आदि के लिए किया जाता हैं।
अमचूर कच्‍चे आम का सूखा पाउडर होता है। प्राचीन समय से ही आमचूर दुनिया भर में बहुत ही लोकप्रिय है जो बहुत सी स्‍वास्‍थ्‍य समस्याओं के लिए फायदेमंद होता है। आमचूर को कच्‍चे या हरे आम को सुखाकर पाउडर के रूप में तैयार किया जाता है। आम के पाउडर को विशेष रूप से मसाले के रूप में बहुत से भारतीय व्‍यंजनों में व्‍यापक रूप से उपयोग किया जाता है। आम के पाउडर का उपयोग इसलिए किया जाता है क्‍योंकि आम एक मौसमी फल है। यह हर मौसम में उपलब्‍ध नहीं होता है। इसलिए आम का उपयोग आमचूर पाउडर के रूप में लंबे समय तक और हर मौसम में किया जा सकता है।


नियमित रूप से आमचूर का सेवन शरीर में कई प्रकार के पोषक तत्वों की कमी को पूरा कर सकता है। लगभग 10 ग्राम आमचूर में 36 कैलोरी होती है जिसमें वसा की मात्रा बहुत ही कम होती है। इसके अलावा इसमें 13 % या 300 मिलीग्राम सोडियम होता है। आमचूर में 2 % वसा, 2 % कैल्शियम और 3 % विटामिन C होता है। आम के पाउडर में आयरन की उच्‍च मात्रा होती है जो कि गर्भवती महिलाओं के लिए बहुत ही आवश्‍यक है। इसके अलावा आमचूर में कार्बोहाइड्रेट लगभग 9 % होता है। इन सभी पोषक तत्‍वों की मौजूदगी के कारण आमचूर के फायदे हमारे बेहतर स्‍वास्‍थ्‍य के लिए होते हैं।

*आप अपने व्‍यंजनों को रंग और स्‍वाद देने के लिए आमचूर का उपयोग करते हैं। इसके अलावा भी आमचूर के फायदे होते हैं जो स्‍वास्‍थ्‍य लाभ के लिए जाने जाते हैं। कई प्रकार के विटामिनों की उचित मात्रा उपलब्‍ध होने के कारण आमचूर विभिन्‍न प्रकार की औषधीयों में प्रमुख घटक के रूप में उपयोग किया जाता है। साथ ही आयुर्वेदिक दवाओं में भी आमचूर का उपयोग किया जाता है। आमचूर का सेवन करना महिलाओं के लिए बहुत ही लाभकारी होता है। क्‍योंकि इसमें आयरन की उच्‍च मात्रा होती है जो महिलाओं को मासिक धर्म और गर्भावस्‍था के दौरान आयरन की कमी को दूर करने में प्रभावी होता है।
इसके अलावा आमचूर का नियमित सेवन प्रतिरक्षा प्रणाली को भी मजबूत करता है क्‍योंकि इसमें विटामिन सी और एंटीऑक्‍सीडेंट भी अच्‍छी मात्रा में होते हैं। आमचूर के स्‍वास्‍थ्‍य लाभ होने के साथ ही त्‍वचा और बालों के लिए फायदेमंद होते हैं। आइए विस्‍तार से जाने आमचूर खाने के फायदे और नुकसान क्‍या है।
वजन कम करने में
जो लोग अपना वजन कम करना चाहते हैं उनके लिए आमचूर पावडर के फायदे भी होते हैं। उन्हें अपने वजन कम करने वाले उपायों के साथ विकल्‍प के रूप में आमचूर का उपयोग करना चाहिए। ऐसा इसलिए है क्‍योंकि आमचूर में मौजूद एंटीऑक्‍सीडेंट चयापचय को बढ़ावा देने में सहायक होते हैं। जिसके परिणामस्‍वरूप वजन कम करने में मदद मिलती है। कार्बोहाइड्रेट की उचित मात्रा होने के कारण वजन घटाने वाले उत्‍पादों में आमचूर को शामिल किया जाता है। आप अपने आहार में आमचूर को शामिल कर लाभ प्राप्‍त कर सकते हैं।
मधुमेह के लिए
अपने औषधीय गुणों के कारण आमचूर पाउडर के फायदे विभिन्‍न प्रकार की स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं के लिए होते हैं। अमचूर के लाभों में मधुमेह नियंत्रण भी शामिल है। नियमित रूप से आमचूर का सेवन करने पर यह शरीर में रक्‍त शर्करा के स्‍तर को कम रखने में मदद करता है। क्‍योंकि अमचूर में कम ग्‍लाइसेमिक इंडेक्‍स होता है साथ ही इसमें वसा की मात्रा ना के बराबर होती है। इसके अलावा पोटेशियम की अच्‍छी मात्रा होने के कारण आमचूर के फायदे मधुमेह से बचने के लिए होते हैं। यह रक्त में रक्‍त शर्करा के स्‍तर को विनियमित करने में सहायक होता है। इस तरह से आप आमचूर पाउडर का सेवन कर मधुमेह के लक्षणों को नियंत्रित कर सकते हैं।
विषाक्‍तता दूर करे
आम से बने पाउडर के फायदे शरीर को हानिकारक विषाक्‍त पदार्थों से बचाने में मदद करते हैं। अमचूर पाउडर में विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन डी और विटामिन बी6 की अच्‍छी मात्रा होती है। इस कारण ही यह शरीर को डिटॉक्सिफाई करता है। इस तरह से आप दस्‍त, पेचिश और मूत्र पथ के संक्रमण संबंधी समस्‍याओं के आयुर्वेदिक इलाज के लिए आमचूर का उपयोग कर सकते हैं।
पाचन के लिए
पाचन संबंधी समस्‍याओं से परेशान व्‍यक्तियों के लिए आमचूर के लाभ होते हैं। ऐसा इसमें मौजूद एंटीऑक्‍सीडेंट की उच्‍च मात्रा के कारण होता है। ये एंटीऑक्‍सीडेंट अम्‍लता (acidity) से लड़ने में मदद करते हैं। इसके अलावा नियमित रूप से आमचूर का सेवन करने पर यह कब्‍ज, पेट फूलना और अन्‍य पाचन संबंधी समस्‍याओं को भी रोक सकता है। आमचूर का पर्याप्‍त सेवन करने से मल त्‍याग को आसान बनाया जा सकता है। आमचूर में फेनोल और अन्‍य यौगिक होते हैं जो शक्तिशाली एंटीऑक्‍सीडेंट का काम करते हैं जो आपकी चयापचय प्रणाली को मजबूत करते हैं। इस तरह से आप भी अपने पाचन तंत्र को स्‍वस्‍थ और मजबूत बनाने के लिए आमचूर के फायदे प्राप्‍त कर सकते हैं।
दिल को रखे स्‍वस्‍थ
हृदय रोगियों के लिए आमचूर बहुत ही लाभकारी होता है। इसमें मौजूद पोटेशियम हृदय संबंधी समस्‍याओं को प्रभावी रूप से दूर कर सकता है। आप अपने हृदय को स्‍वस्‍थ बनाए रखने के लिए नियमित रूप से अमचूर का सेवन कर सकते हैं। इस पाउडर के कई स्‍वास्‍थ्‍य लाभ होते हैं। यह हृदय की विफलता और अन्‍य हृदय संबंधी विकारों को प्रभावी रूप से रोक सकता है। आमचूर दिल का दौरा पड़ने जैसी गंभीर समस्‍याओं की संभावना को भी कम कर सकता है। अमचूर के इन्‍हीं लाभों के कारण कई प्रकार के व्‍यंजनों में इसका उपयोग किया जाता है।
महिलाओं के लिए
आयरन की उच्‍च मात्रा होने के कारण अमचूर पावडर महिलाओं के लिए लाभकारी होता है। नियमित रूप से आमचूर का सेवन करने से महिलाओं को एनीमिया जैस समस्‍याओं से बचाया जा सकता है जो आयरन की कमी के कारण होती हैं। इसके अलावा मासिक धर्म के दौरान रक्‍तस्राव के कारण होने वाली रक्‍त की कमी को पूरा करने में भी आमचूर मदद करता है। क्‍योंकि इसमें मौजूद आयरन रक्‍त कोशिकाओं के उत्‍पादन को बढ़ाने में सहायक होता है। पके हुए आम में चीनी की मात्रा अधिक होती है जिसके कारण कच्‍चे आम का अमचूर मानव शरीर के लिए फायदेमंद होता है।


आंखों के लिए

आंख हमारे शरीर का एक महत्‍वपूर्ण अंग है। आंखों के लिए अमचूर के फायदे इसलिए होते हैं क्‍योंकि इसमें विटामिन A और विटामिन E की उच्‍च मात्रा होती है। जो हमारी आंखों और त्‍वचा के लिए बहुत ही आवश्‍यक घटक होते हैं। आमचूर पाउडर का सेवन करने से शरीर में हार्मोन के उचित कामकाज को भी बढ़ाया जा सकता है। इसके अलावा अमचूर के फायदे त्‍वचा पर एंटी-एजिंग प्रभाव भी डालते हैं जिससे आपको त्‍वचा संबंधी समस्‍याओं से भी छुटकारा मिल सकता है। इस तरह से आप अपनी आंखों और त्‍वचा को स्‍वस्‍थ रखने के लिए आप अमचूर का सेवन कर सकते हैं।
कैंसर को रोके
हम सभी जानते हैं कि कैंसर एक गंभीर समस्‍या है। लेकिन आप आमचूर का उपयोग कर कैंसर के लक्षणों को कम कर सकते हैं। आमचूर में विटामिन सी और अन्‍य एंटीऑक्‍सीडेंट अच्‍छी मात्रा में होते हैं। जो कि कैंसर कोशिकाओं के विकास को रोकने और उन्‍हें नष्‍ट करने में सहायक होता है। इसके अलावा ये एंटीऑक्‍सीडेंट फ्री रेडिकल्‍स से भी हमारे शरीर की रक्षा करते हैं जो बहुत सी स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं का कारण होते हैं।
स्‍कर्वी के लिए
अमचूर में विटामिन सी की उच्‍च मात्रा होती है जिसके कारण अमचूर के फायदे स्‍कर्वी के लिए होते हैं। विटामिन सी की कमी के कारण ही स्‍कर्वी रोग होता है। लेकिन दैनिक आधार पर नियमित रूप से आमचूर का सेवन करने से स्‍कर्वी का इलाज और रोकथाम किया जा सकता है। इसके लिए आप गुड़ के साथ अमचूर पाउडर का सेवन करें। यह आपको स्कर्वी के लक्षणों से छुटकारा दिला सकता है।
आमचूर बनाने की विधि-
घर पर आमचूर बनाना बहुत ही आसान है। इसे बनाने के लिए आपको हरे या कच्‍चे आम की आवश्‍यकता होती है।
अमचूर बनाने के लिए आप कच्‍चे आम लें और इन्‍हें अच्‍छी तरह से धो लें।
सब्‍जी का छिलनी की मदद से आम के छिलके को निकाल दें।
अब छिले हुए आम को पतले-पतले स्‍लाइस में काट लें और इसे किसी कपड़े पर फैला दें।
जब सारे आम काट लिए जाएं तब कपड़े को धूप में सूखने के लिए रख दें।
कुछ दिनों तक नियमित रूप से आम के इन पतले स्‍लाइसों को सुखाएं जब तक कि ये पूरी तरह से सूख नहीं जाते हैं।
सूखने के बाद आप इन्‍हें किसी मिक्‍सर मशीन की सहायता से बारीक पाउडर बना लें।
इस पाउडर को किसी पतली छन्‍नी से छान लें। यदि आम के कुछ मोटे टुकड़े बचें तो इन्‍हें फिर से पीस लें।
पाउडर के रूप में आपका अमचूर तैयार है। आप इसे किसी हवा बंद डिब्‍बे में रख लें।
सावधानी-
अमचूर का सेवन करना स्‍वास्‍थ्‍य के लिए फायदेमंद होता है। लेकिन इसका अधिक मात्रा में सेवन करने के कुछ दुष्‍प्रभाव भी हो सकते हैं।
कुछ लोगों को अमचूर का सेवन करने से एलर्जी भी हो सकती है। जिसके कारण उन्‍हें खांसी, सर्दी, गला बैठना आदि समस्‍याएं हो सकती हैं।
कुछ लोगों को आमचूर का अधिक मात्रा में सेवन करने पर त्‍वचा की एलर्जी का सामना करना पड़ सकता है। जिसमें त्‍वचा में चकते और लालिमा आदि शामिल हैं।
यदि आप किसी विशेष प्रकार की दवाओं का सेवन कर रहे हैं और आमचूर का किसी औषधीय प्रयोजन हेतु उपयोग करना चाहते हैं तो पहले अपने डॉक्‍टर से सलाह लें।

 

आर्थराइटिस(संधिवात)के  अचूक   
हर्बल औषधि