नारियल तेल लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
नारियल तेल लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

लंबे बालों को सेहतमंद रखने के उपाय


                                                                      

गर्मी में लंबे बालों को संभालना ज्यादा मुश्किल हो जाता है। आपके दिल में भी कई बार अपने बालों को इसी वजह से कटवाने का ख्याल आया होगा। पर समस्या है तो समाधान भी तो है। बताते हैं गर्मी में अपने लंबे बालों की देखभाल कैसे करें,
*गर्मी के मौसम में बालों की समस्या बढ़ जाती है। अगर लंबे बाल हों तो उनको संभालना और मुश्किल हो जाता है। ऐसे में हम लंबे बालों को एक मुसीबत के रूप में देखते हैं और अक्‍सर बालों को कटवाने का खयाल मन में आने लगता है। गर्मी के इन तीन महीनों में बाल ज्यादा घुंघराले और भारी भी हो जाते हैं, जिसके कारण वे और मुश्किल पैदा करते हैं।

डेंगू ज्वर :कारण और निवारण के उपाय 


*आप जूड़ा भी बना सकती हैं। बाल सुरक्षित रहेंगे और उलझेंगे भी नहीं। इसके अलावा आप बालों में गांठ भी लगा सकती हैं। बालों में तरह-तरह से गांठ लगाएं, बालों को एक नया लुक मिलेगा।
*इस मौसम में बालों को अतिरिक्त गर्मी बिल्कुल न दें। बालों में हेयर ड्रायर या हेयर कर्लर का प्रयोग बिल्कुल न करें। इनके प्रयोग से आपके बालों को नुकसान पहुंचेगा और बाल झड़ने भी लगेंगे। लंबे बालों को हमेशा प्राकृतिक तरीके से ही सुखाने की कोशिश करें।
*गर्मी के मौसम में पानी बहुत महत्वपूर्ण होता है, इससे आपमें नमी की कमी नहीं होगी। यह न सिर्फ आपके लिए, बल्कि आपके बालों के लिए भी बहुत जरूरी है। इसलिए पर्याप्त मात्रा में पानी पिएं। एक दिन में 8 से 10 गिलास पानी कम-से-कम पिएं। घर से बाहर निकल रही हैं, तो पानी जरूर रखें।
*इसके अलावा इस मौसम में पोषणयुक्त आहार का सेवन अवश्य करें। मौसमी फल और तरबूज खाने से बालों को पोषण मिलता है और इससे बाल मजबूत और घने होते हैं। 
बालों में बार-बार हाथ फेरना भी बुरी आदत है। हम पहले कीटाणुयुक्त चीजें छूते हैं, फिर उसी गंदे हाथ से अपने बाल छूते हैं। यही कीटाणु डैंड्रफ व बालों के टूटने की वजह बनते हैं।
*प्रोस्टेट बढ़ने से मूत्र रुकावट की अचूक  औषधि*
पित्त पथरी (gallstone)  की अचूक औषधि 

गोमूत्र और हल्दी से केन्सर का इलाज

नारियल के औषधीय गुणों पर एक नजऱ

      




स्वादिष्ट भोजन-मिष्टान्न में सूखे कटे एवं पिसे हुए नारियल के प्रयोग के अतिरिक्त शुध्दता के कारण धार्मिक कार्यों और प्रसाद वितरण में यह शुभ माना जाता है। इस प्रकार नारियल के विभिन्न उपयोगों से प्रमाणित हो जाता है कि नारियल अनेक गुणों का धारक है, जिसका अन्य कोई विकल्प नहीं है। 
कच्चे नारियल के गूदे के प्रयोग से अपच ठीक हो जाती है, जिससे पाचन क्रिया ठीक-ठाक बनी रहती है। पौष्टिक तत्वों एवं औषधीय गुणों का भंडार नारियल तेल, चेहरे के दाग-धब्बे मिटाने में गुणकारी प्रमाणित हो रहा है। नारियल तेल लगाने से शरीर पर होने वाली पित्त ठीक हो जाती है। नारियल तेल में बना भोजन करने से वजन में आश्चर्यजनक रूप से कमी आई है।
नारियल से बनी खाद्य सामग्री स्वादिष्ट एवं पौष्टिक तत्वों से भरपूर होती है। नारियल की चटनी दक्षिण भारतीय भोजन इडली-डोसा को पूर्णता प्रदान करती है। नारियल का पानी पीकर,कच्चा नारियल खाने से कृमि निकल जाते है।
एक नारियल का पानी गर्भावस्था में पीते रहने से सुन्दर सन्तान का जन्म होता है। नारियल मूत्र साफ़ करता है। कामोत्तेजक है। मासिक धर्म खोलता है। यह शरीर को मोटा करता है। मस्तिष्क की दूर्बलता दूर करता है। खांसी और दमा वालों को नारियल नहीं खाना चाहिये।


सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि

आर्थराइटिस(संधिवात)के घरेलू ,आयुर्वेदिक उपचार