चक्कर आना लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
चक्कर आना लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

कम पानी पीने से हो सकती हैं ये स्वास्थ्य समस्याएं



पानी पीकर ही शरीर को कई बीमारियों से बचाया जा सकता है. अगर शरीर को प्रर्याप्त मात्रा में पानी (drink enough water) मिलता है, तो यह रोगों से दूर रह सकता है. लेकिन शरीर को कम पानी मिलने से कई बीमारियों व समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है."जल ही जीवन है" ये कहावत तो आपने सुनी ही होगी। इससे यह बात बिल्‍कुल साफ है कि पानी पीना हमारे लिए कितना जरूरी है। हमारा शरीर जिन तत्वों से बना है, उसमें जल मुख्य घटक है। अगर शरीर में जल की मात्रा कम हो जाए, तो जीवन खतरे में पड़ जाता है। गर्मियों में प्यास अधिक लगती है तो लोग पानी भी खूब पीते हैं मगर सर्दियों में यह मात्रा कम हो जाती है। इसकी एक वजह यह है कि हमें इन दिनों प्यास नहीं लगती, जिसके कारण लोग पर्याप्‍त पानी नही पीते हैं। 
एक सेहतमंद व्यक्ति को स्वस्थ रहने के लिए दिन भर में 8 ग्लास पानी पीना चाहिए. पर्याप्त मात्रा में पानी पीने से कई तरह की बीमारियां दूर रहती हैं. इसके अलावा खून को साफ रखने में भी पानी का अहम योगदान है. पर्याप्त मात्रा से कम पानी पीने से शरीर में कई तरह की परेशानियां पैदा होने लगती हैं.
ड्राई स्किन-
पानी की कमी के कारण स्किन का मॉइश्चर कम हो जाता है। इससे स्किन ड्राई होने लगती है।कमजोर कॉन्सन्ट्रेशन-
दिमाग का 70% से ज्यादा हिस्सा पानी से बना है। इसकी कमी होने पर दिमाग ठीक से काम नहीं कर पाता है और किसी एक चीज़ पर ध्यान नहीं लगता।
यूरिन का रंग-
यूरिन का रंग हल्का पीला, गहरा पीला या भूरा हो, तो यह पानी की कमी की निशानी है। ऐसे में तुरंत पानी पिएं।
हार्ट बीट बढ़ना-
बॉडी में पानी की कमी होने पर हार्ट को दिमाग तक ऑक्सीजन और बाकी न्यूट्रिएंट्स पहुचाने के लिए ज्यादा जोर लगाना पड़ता है। ऐसे में कई बार दिल की धड़कनें अचानक बढ़ जाती हैं।
चक्कर आना- 
पानी की कमी होने पर बॉडी का एनर्जी लेवल बहुत कम हो जाता है। ऐसे में चक्कर आने की शिकायत हो सकती है।
सांसों की बदबू-
शरीर में पानी की कमी होने पर सही मात्रा में सलाइवा नहीं बन पाता। इससे मुंह में बैक्टीरिया पनपने लगते हैं और साँसों में बदबू आने लगती है।
माइग्रेन की समस्या
एक सर्वेक्षण के मुताबिक विश्व की जनसंख्या का 10 प्रतिशत हिस्सा माइग्रेन से पीड़ित है और इसमें से करीब 80 प्रतिशत महिलाएं हैं। क्या आपको पता है कि पर्याप्त पानी न पीने से भी माइग्रेन की समस्या हो सकती है। पानी हमारे शरीर के लिए बहुत जरूरी है तत्व है मगर कई बार जब आप पर्याप्त पानी नहीं पीते हैं, तो इससे कई तरह के रोगों का खतरा रहता है। आमतौर पर लोगों को ये तो पता होता है कि कम पानी पीने से किडनी की पथरी का खतरा होता है मगर ये बात कम ही लोग जानते हैं कि इससे आपको माइग्रेन की समस्या भी हो सकती है।
डिहाइड्रेशन की समस्या
शरीर में पानी की मात्रा कम होने से डिहाइड्रेशन की समस्या हो जाती है. शरीर में पानी कम होने से पेट खराब, अपाचन या पेट दर्द की समस्या भी हो सकती है. पानी की कमी के कारण टॉक्सिंस शरीर से बाहर नहीं निकल पाते और हमारे शरीर के अंदर कई बीमारियां पनपने लगती हैं.
थकान
पानी की कमी से शरीर में थकान महसूस होती है. जिसके कारण आप एनर्जी की कमी महसूस कर सकते हैं. पानी की कमी से सिरदर्द, उलझन, तनाव वगैरह समस्याएं हो सकती हैं. कम पानी पीने से सिरदर्द की समस्या बढ़ सकती हैं.
 चेहरे में चमक
सुंदरता हर किसी को प्रिय है फिर चाहे वह स्त्री हो या पुरुष. और इस सुंदरता को बरकरार रखने में मदद करता है पानी. जी हां, सही मात्रा में पानी पीने से चेहरे में चमक आती है. लेकिन कम मात्रा में पानी पीने से चेहरे में झुर्रियां, दाग, मुंहासे, बेचान और रूखी त्वचा जैसी समस्याएं हो सकती हैं. कम पानी पीने की समस्या चेहरे की चमक भी खत्म कर सकती है.
वजन बढ़ सकता है
पानी कम पीने से आपका वजन बढ़ सकता है. कई लोग मोटापे के शिकार भी हो सकते हैं. मोटापे की समस्या से परेशान लोगों के मुंह से अक्सर यह सुनने को मिलता है कि वो इतना खाते भी नहीं फिर भी उनका वजन बढ़ रहा है. तो उनके वजन बढ़ने का कारण पानी की कमी हो सकती है. शरीर में पर्याप्त मात्रा में पानी न होने से वजन जल्दी बढ़ने लगता है.
जोड़ों में दर्द
पानी का अधिक सेवन करने से जोड़ों के दर्द में आराम मिलता है. लेकिन कम पानी का सेवन करने से जोड़ों में दर्द की समस्या हो सकती है. क्योंकि पानी की कमी से जोड़ों की चिकनाहट खत्म हो जाती है जिसके कारण दर्द बढ़ सकता है.
वैसे तो दही ठंडी ही होती है। इसका सेवन दिन में करें। दही में तकरीबन 80 प्रतिशत पानी के अवयव होते हैं। दही या लस्सी के सेवन से शरीर में पानी की कमी को पूरा किया जा सकता है। यह हड्डियों को भी मजबूत रखने में सहायक होता है।
ठंड में चावल खाने से भी शरीर में पानी की कमी को काफी हद तक पूरा किया जा सकता है। इसमें आयरन, कार्बोहाइड्रेट जैसे पोषक तत्व होते हैं। फ्राइड राइस के मुकाबले उबले हुए चावल ज्यादा फायदा करेंगे।
सेब खाने से लगभग 90 प्रतिशत पानी होता है। इसके अलावा इसमें फाइबर, विटामिन सी, कैल्शियम और अन्य पोषक तत्व होते हैं। रोज सेब खाने से शरीर में पानी की कमी नहीं होगी।
नींबू ठंडा होता है, लेकिन दिन में इसका सेवन फायदेमंद होगा। इसमें भरपूर मात्रा में विटामिन सी पाया जाता है। यह शरीर से विषैले पदार्थों को निकालने में सहायता करेगा। इससे चेहरे पर पिंपल नहीं होगा और यह शरीर में पानी की कमी को भी पूरा करेगा।

पित्त पथरी (gallstone) के घरेलू ,आयुर्वेदिक उपचार 

किडनी निष्क्रियता की हर्बल औषधि 

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि 

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि