कमर दर्द से राहत पाने के असरदार उपचार लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
कमर दर्द से राहत पाने के असरदार उपचार लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

कमर दर्द से राहत पाने के असरदार उपचार


कमर के निचले हिस्से का दर्द (Lumbago) दोनों छोटे और बड़े वयस्कों को प्रभावित कर सकता है| तीव्रता के आधार पर, यह जीवन की गुणवत्ता को गंभीरता से बाधित कर सकता है, जो रोज़ाना सामान्य कार्यों को मुश्किल और दर्दनाक बना देता है| क्योंकि किसी भी कार्य को आगे या पीछे की ओर झुकने से पीड़ादायक लक्षणों का कारण बन सकता है, या तो स्थानीय रूप से निचले हिस्से में ही महसूस होता है| या यह शरीर के अन्य भागों में विकीर्ण हो सकता है|
कमर के निचले हिस्से में दर्द कभी भी किसी को भी हो सकता है। यह अक्सर ज्यादा देर तक बैठकर काम करने, घंटों खड़े रहकर घर का काम करने, या फिर जिम में ज्यादा वर्कआउटकरने से होता है। एक समय तक यह समस्या उम्र के बढ़ने पर होती थी, लेकिन भागदौड़ भरी लाइफस्टाइल में कम उम्र के लोगों को भी कमर में दर्द की शिकायत रहती है। समय रहते, अगर इस पर ध्यान नहीं दिया जाए, तो आगे चलकर यह चिंता का कारण बन सकती है। इसके लिए डॉक्टर के पास जाना तो सही विकल्प है ही, लेकिन कमर दर्द के लिए घरेलू उपचार लेना ज्यादा बेहतर है।
आज के समय में कमर का दर्द हर घर में किसी एक को जरूर रहता है। कुछ को कमर के मध्यय हिस्से में तो कुछ को कमर के निचले हिस्से में दर्द होता है। दर्द अगर ज्यादा बढ़ जाए, तो यह कूल्हों तक भी फैल सकता है, जिससे काम करने में परेशानी आती है। इससे आराम पाने के लिए लोग दवाएं लेते हैं, उस वक्त तो भले ही दर्द ठीक हो जाए, लेकिन बाद में ये समस्या कभी न कभी उभर ही आती है। ऐसे में आप अपनी आदतों में छोटे-छोटे बदलाव कर इससे बच सकते हैं। आज के इस आर्टिकल में हम आपको कमर दर्द से राहत पाने के कई घरेलू नुस्खे बताएंगे, जिन्हें अपनाकर आप कमर के दर्द को हमेशा के लिए बाय-बाय कह सकते हैं।
जब कभी आपकी मांसपेशियों, लिगामेंट या पीठ की डिस्क को कोई नुकसान हुआ हो या चोट लगी हो, तो आपको कमर दर्द की शिकायत हो सकती है। तनावग्रस्त लिगामेंट्स और मांसपेशियों में ऐंठन कमर के दर्द का प्रमुख कारण है। सिर्फ यही नहीं, कमर के दर्द के ऐसे बहुत से कारणों के बारे में आप नीचे जान सकते हैं।
कठोर शारीरिक कसरत या व्यायाम करना
धुम्रपान करना
कमजोर हड्ड़ियों के कारण
गर्भावस्था के कारण
शरीर की कमजोरी
टू या फोर व्हीलर से घंटों यात्रा करना
मोटापे के कारण
किसी वस्तु को गलत तरीके से उठाना
नींद न आना
आपकी उम्र
गठिया रोग की समस्या
बढ़ती हुई उम्र
सही गद्दे पर न सोना
घंटों तक एक ही जगह बैठे रहना
दिनभर कुर्सी पर गलत पॉश्चर में बैठना
रामबाण उपाय मेथीदाना
मेथी अपने एंटीइंफ्लेमेट्री गुणों के कारण काफी लोकप्रिय है। कुछ अध्ययनों में पाया गया है, कि मेथी कमर के दर्द से राहत दिलाने में बहुत मददगार है। नीचे बताए गए तरीके से आप कमर दर्द के लिए मेथी का इस्तेमाल कर सकते हैं।
कैसे करें इस्तेमाल-
कमर दर्द के लिए मेथीदाना बहुत अच्छा प्राकृतिक उपाय माना जाता है। इसका उपयोग करने के लिए एक चम्मच मेथीदाना पाउडर को एक गिलास गर्म पानी में मिलाएं और पी लें। स्वाद के लिए आप चाहें, तो इसमें शहद मिला सकते हैं। अगर कमर का दर्द सही नहीं हो रहा, तो हर रोज रात में सोने से पहले इस नुस्खे को अपनाएं। दर्द में बहुत आराम मिलेगा।
सेंधा नमक
सेंधा नमक, जिसे मैग्रीशियम सल्फेट के रूप में भी जाना जाता है, कमर दर्द का सबसे अच्छा घरेलू उपाय है। दरअसल, मैग्रीशियम भी कमर दर्द से राहत दिलाने में मददगार है।
कैसे करें इस्तेमाल-
बैक पेन के लिए सेंधा नमक का उपयोग आसानी से किया जा सकता है। इसके लिए एक बाल्टी गुनगुने पानी में एक या दो चम्मच सेंधा नमक मिला लें। यदि बाथटब है, तो 10 से 15 मिनट तक अपने शरीर को इसमें डुबोकर रखें और अगर बाल्टी में पानी में सेंधा नमक मिलाया है, तो आप 15 मिनट तक इससे स्नान ले सकते हैं। हफ्ते में तीन बार ऐसा करने से कमर दर्द की समस्या खत्म हो जाएगी।
हल्दी
हल्दी शरीर में किसी भी अंग में दर्द का इलाज बेहतर तरीके से करती है। दरअसल, हल्दी में कुरकुमिन नाम का यौगिक होता है, जिसमें एंटी इंफ्लेमेट्री और पेन रिलीविंग प्रॉपर्टी होती हैं। हल्दी के इन गुणों का प्रयोग कमर दर्द और इसके लक्षणों से राहत दिलाने के लिए बहुत अच्छा है।
कैसे करें इस्तेमाल-
दर्द से राहत पाने के लिए हल्दी से अच्छा कोई नुस्खा नहीं है। आयुर्वेद में हल्दी को औषधि की मान्यता दी गई है। कमर दर्द से राहत पाने के लिए हर रोज एक गिलास गर्म दूध में चुटकी भर हल्दी मिलाएं और पी लें। दिन में दो बार हल्दी वाला दूध पीने से कमर का दर्द चुटकियों में गायब हो जाएगा।
अदरक
वैसे तो अदरक कई बीमारियों का अच्छा इलाज है, लेकिन कमर दर्द दूर करने में ये आपकी बहुत मदद करता है। अंदरक में एंटीइंफ्लेमेट्री गुण होते हैं, जो दर्द से राहत दिलाते हैं। नीचे बताए गए तरीके से कमर के दर्द में अदरक का इस्तेमाल कर सकते हैं।
कैसे करें इस्तेमाल-
बैक पेन में अदरक बहुत फायदेमंद है। इसका प्रयोग करने के लिए एक कप गर्म पानी में अदरक को 5 से 10 मिनट तक डालकर रखें। स्वाद बढ़ाने के लिए इसमें थोड़ा सा शहद मिलाएं और ठंडा होने से पहले ही पी जाएं। अगर आप ये नुस्खा नहीं कर पाते, तो वैकल्पिक रूप से कमर की मालिश करने के लिए अदरक के तेल का उपयोग कर सकते हैं। दिन में दो बार इस उपचार को करने से कमर दर्द से राहत मिलेगी।
लहसुन
लहसुन में सेलेनियम और कैप्सैसिन जैसे घटक होते हैं, जो अपने एंटी इंफ्लेमेट्री और एनाल्जेसिक प्रभावों के लिए जाने जाते हैं। ये घटक कमर दर्द से आराम दिलाने में बहुत मददगार साबित होते हैं।
कैसे करें इस्तेमाल –
सबसे पहले लहसुन की 8 से 10 कलियों को पीसकर एक पेस्ट बना लें और इस पेस्ट को प्रभावित जगह पर लगाकर एक साफ टॉवेल से ढंक लें। अब इसे 20-25 मिनट के लिए ऐसे ही छोड़ दें। फिर इसे गीले कपड़े से पोंछ लें। वैकल्पिक रूप से आप हर रोज सुबह लहसुन की कलियां भी चबा सकते हैं। कमर दर्द से बहुत जल्दी निजात मिलेगी
एलोवेरा
एलोवेरा एक औषधीय जड़ी-बूटी है। इसमें एंटीइंफ्लेमेट्री और एनालजेसिक गुण पाए जाते हैं, जो कमर दर्द का बेहतर इलाज करने में मदद करते हैं।
कैसे करें इस्तेमाल-
कमर दर्द को जड़ से खत्म करने के लिए हर रोज दिन में एक बार आधा या एक चौथाई कप एलोवेरा जूस पीएं। अगर जूस न पी सकें, तो प्रभावित हिस्से पर एलोवेरा जेल लगा लें, बहुत फायदा पहुंचेगा।
अनानास
अनानास ब्रोमेलेन नामक एंजाइम का एक समृद्ध स्त्रोत है। आपको बता दें, कि ब्रोमेलैन में एंटी इंफ्लेमेट्री और एनालजेसिक गुण पाए जाते हैं, जो कमर दर्द (पीठ दर्द) के उपचार में सहायक हैं। कमर दर्द को सही करने के लिए अनानास का इस्तेमाल नीचे दिए तरीके से कर सकते हैं।
कैसे करें इस्तेमाल-
कमर दर्द से निजात पाने के लिए अनानास को पानी के साथ मिलाकर पीस लें। अगर आप इसका जूस बनाकर नहीं पी सकते, तो आधा कप अनानास काटकर खाएं। बहुत आराम मिलेगा।
हीटिंग पैड
हीटिंग पैड आपको कमर दर्द से राहत दिलाने में बहुत फायदेमंद है। हीट थैरेपी में प्रभावित मांसपेशियों पर एनाल्जेसिक इफेक्ट पाया जाता है, इसलिए मांसपेशियों की ऐंठन और दर्द से जल्द राहत मिलती है।
कैसे करें इस्तेमाल-
कमर दर्द से तुरंत राहत पाने के लिए हीटिंग पैड अपने घर में जरूर रखें। जब भी आपको कमर में दर्द हो, तो इसे अपनी कमर पर कम से कम 25-30 मिनट के लिए रखें। दर्द से जल्द आराम पाने के लिए दिन में एक बार इस प्रक्रिया को करें। इसी तरह से आप आइस पैक का भी इस्तेमाल भी कमर दर्द से बचने के लिए कर सकते हैं।
तुलसी
तुलसी कमर दर्द का अच्छा घरेलू इलाज है। दरअसल, तुलसी में यूजेनॉल, सिट्रोनेलॉल और लीनूल नाम के तेल होते हैं। इन तेलों में मौजूद एंटीइंफ्लेमेट्री और पेन रिलीविंग गुण होते हैं, जिसका उपयोग कमर दर्द में किया जा सकता है।
कैसे करें इस्तेमाल-
जब भी आपको कमर में दर्द हो, तो तुलसी के पत्तों को 10 मिनट तक पानी में डुबोकर रखें। स्वाद बढ़ाने के लिए इसमें थोड़ा सा शहद मिला लें और ठंडा होने से पहले इसका सेवन कर लें। वैकल्पिक रूप से आप चाहें, तो तुलसी का तेल भी कमर पर लगा सकते हैं। बहुत राहत मिलेगी। दिन में दो से तीन बार तुलसी का पानी पीने से कमर दर्द गायब हो जाएगा।
सावधानी
अगर आपको अक्सर ही कमर दर्द की समस्या रहती है, तो कुछ बातों का ध्यान रखना बहुत जरूरी है।
अपना वजन नियंत्रित रखें।
धुम्रपान करने से बचें।
बैठते समय कंधा, कमर और गर्दन को हमेशा सीधा रखें और बैठने के लिए सही पॉश्चर अपनाएं।
सोने के लिए गद्दे बहुत सॉफ्ट नहीं बल्कि हार्ड होने चाहिए और तकिया एकदम पतला होना चाहिए।
पलंग से उठते वक्त बांयी या दांयी ओर करवट लेकर ही उठें।
अपनी मांसपेशियों को मजबूत और लचीला बनाएं।
नियमित रूप से व्यायाम करें। एरोबिक करना अच्छा विकल्प है।
चीनी, अनाज और डेयरी उत्पाद सूजन के कारण माने जाते हैं, इसलिए इन खाद्य पदार्थों को खाने से बचें। इसके बजाए ताजे फल, सब्जियों का सेवन बढ़ाएं।
अपने खाने में कैल्शियम और विटामिन की मात्रा बढ़ाएं।
बैठते या लेटते समय अपनी पीठ या को सपोर्ट प्रदान करें।

किडनी निष्क्रियता की हर्बल औषधि

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि

पित्त पथरी (gallstone) के घरेलू ,आयुर्वेदिक उपचार