ककोड़ा है गुणों का खजाना लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
ककोड़ा है गुणों का खजाना लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

ककोड़ा(जंगली करेला) है गुणों का खजाना





ककोड़ा  एक ऐसा औषधीय फल है जिसका उपयोग हम सब्‍जी के रूप में करते हैं। हां यह अलग बात है कि अन्‍य सब्जियों के मुकाबले ककोरा आसानी से नहीं मिलते हैं। इसमें मौजूद पोषक तत्‍वों की अच्‍छी मात्रा हमें कई प्रकार की बीमारियों से छुटकारा दिलाने में मदद करते हैं। ककोरा का नियमित सेवन करने से रक्‍तचाप, आंखों की समस्‍या, महिला स्‍वास्‍थ्‍य और कैंसर जैसी समस्‍याओं के प्रभाव को कम करने में सहायता मिलती है।
हरी और गोलमटोल कांटे वाली इस सब्जी को ज्यादातर लोगों ने देखा और खाया होगा। लेकिन क्या आप जानते हैं कि इस सब्जी को खाने से कितने सारे फायदे शरीर को मिलते हैं।
ककोड़ा है गुणों का खजाना
इस सब्जी का नाम है ककोड़ा या ककोड़ या ककरोला। इस फल का वैज्ञानिक नाम मोमोरेख डाईगोवा है। यह एक प्रकार की सब्जी है और यह आकार में बहुत छोटी होती है। इसके ऊपर कांटेदार रेशे होते हैं। इस सब्जी को न तो उपजाया जाता है और न ही इसका बीज मिलता है। क्योंकि यह जंगलों और खेतों की बाउंडरी में पाया जाने वाला सब्जी है। बारिश का मौसम शुरू होते ही यह बाजार में दिखने लगता है। जैसे ही बारिश होती है, इसकी बेल अपने आप जंगलों और खेतों में किनारे दिखने लगती है। इसी कारण एग्रीकल्चर डिपार्टमेंट भी इसके बीज नहीं रखता। केवल जंगल से ही इसकी सप्लाई होती है। सीजन खत्म होते ही पके ककोड़े के बीज गिर जाते हैं और जैसे ही पहली बारिश होती है, ककोड़े की बेल जंगल में उग आती है।
ककोड़ा बेल की जड़ एक गांठ होती है। और इसमें बहुत सारे औषधिय गुण पाए जाते हैं। इसका सेवन करने से आपको कभी उल्टी नहीं होती है। और यदि आप नर और मादा दोनों पौधों को मिलाकर सेवन करते हैं तो इससे जहरीले सांप का विष भी आपके शरीर में से उतर जाता है। सबसे खास बात ये भी है कि इस फल के बीज से तेल निकाला जाता है, जिसका उपयोग रंग व वार्निश उद्योग में किया जाता है।
ककोड़ा बेल की जड़ एक गांठ होती ह| और इसमें बहुत सारे औषधिय गुण पाए जाते हैं। इसका सेवन करने से आपको कभी उल्टी नहीं होती है। और यदि आप नर और मादा दोनों पौधों को मिलाकर सेवन करते हैं तो इससे जहरीले सांप का विष भी आपके शरीर में से उतर जाता है। सबसे खास बात ये भी है कि इस फल के बीज से तेल निकाला जाता है, जिसका उपयोग रंग व वार्निश उद्योग में किया जाता है।


पित्त पथरी (gallstone) के घरेलू ,आयुर्वेदिक उपचार 

किडनी निष्क्रियता की हर्बल औषधि 

प्रोस्टेट ग्रंथि बढ्ने से मूत्र बाधा की हर्बल औषधि 

सिर्फ आपरेशन नहीं ,पथरी की 100% सफल हर्बल औषधि