अंकुरित अनाज लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
अंकुरित अनाज लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

स्वास्थ्य सुरक्षा के अहम सूत्र जाने और पालन करें

स्वास्थ्य  सुरक्षा के सूत्र 

  'पहला सुख निरोगी काया' की उक्ति  को चरितार्थ  करते  हुए  हम निम्नांकित नियमों  का जहां तक हो सके ठीक से पालन करें| जीवन को इनके अनुरूप  चलाने का प्रयास करें|  इन सूत्रों के मुताबिक़ आचरण करने से स्वास्थय की सुरक्षा होगी औए तन- मन स्वस्थ रहेंगे| 
१) सुबह सूर्योदय से पहिले उठें|  पूरे शरीर से अंगडाई  लें| 
२) ईश वंदन के बाद तांबे के पात्र में रखा पानी पीएं | पानी की मात्रा कम से कम आधा लीटर |
३)    नीम की दंतून से या सरसों के तेल में नमक मिलाकर  दन्त मंजन करें| मैं पतंजलि  के दन्त कांति  टूथ पेस्ट  का उपयोग करता हूँ| 
४) हर बार खाने के बाद मुख प्रक्षालन अवश्य करें| 
५) अब  ताजी हवा में
प्रात; कालीन  भ्रमण पर निकल जाएँ| ३० से ४५ मिनिट का घूमना ठीक है| 
६) आधा  घंटा  आसन और प्राणायाम करें|
७) स्नान करते समय शरीर की सूखी मालिश करें और पैरों के तलवे रगडें| 
८) शेम्पू,साबुन के बजाय केशों को मुल्तानी या काली मिट्टी लगाकर धोएं| 
९) सौंदर्य प्रसाधनों में  हल्दी,नींबू,बेसन,दूध,दही का इस्तेमाल करें| 
१०)   नाश्ते में  फल,जूस,
अंकुरित अनाज,एवं सलाद का  ही सेवन करें|

मस्सों को जड़ से ख़त्म करने के रामबाण आयुर्वेदिक उपचार


११) भोजन करते वक्त टी वी  न देखें| मौन रहकर भोजन करना उचित है| 
१२) भोजन में सूप और
सलाद का भरपूर उपयोग करें| 
१३) भोजन भर पेट नहीं करें पेट कुछ खाली रखना चाहिए| 
१४) भोजन धीरे-धीरे,खूब चबाकर  शान्ति और प्रसन्नता से करें| 
१५) भोजन करने के बाद थौड़ा गरम पानी पीएं| 

बढ़ी हुई तिल्ली प्लीहा के घरेलू आयुर्वेदिक उपचार

१६) रात को हल्का खाना लें|  सोने से ३ घंटे पहिले रात का खाना लें\ 
१७ ) अंग्रेजी दवाईया जहां तक हो सके  प्रयोग करने से बचें| 
१८) सप्ताह में एक दिन सिर्फ
फलाहार करें| 
१९) गुटखा  ड्रग्स,बीडी,सिगरेट ,तम्बाखू  और मांसाहार से परहेज करें| 
२०)  जुकाम,सर्दी,खांसी ,बुखार में गर्म पानी पीएं| 
२१) २४ घंटे में कम से कम १० गिलास पानी पीएं\ 

सांस फूलने(दमा) के लिए प्रभावी घरेलू उपचार

२२) पीने के लिए फ्रीज के पानी का सीधे उपयोग न करें\ 
२३) भोजन आधा पेट करें,पानी चौथाई पेट पीएं  बाकी हिस्सा पेट खाली रखें| 
२४) रात को दस बजे तक सो जाना चाहिए|  ज्यादा रात जागना हानि कारक है| 
२५) चोकर युक्त आटे का प्रयोग करें\ 
२६) फास्ट फ़ूड,शकर,मैदा,चाय,काफी ,कोल्ड ड्रिक्स का उपयोग कम से कम करें|