2.2.17

पनीर खाने के स्वास्थ्य लाभ : The health benefits of eating cheese

    
   दूध में मौजूद सभी पोषक तत्व जैसे प्रोटीन, कैल्शियम, विटामिन बी-2, बी-12, ए व डी सभी पनीर में भी रहते हैं। अभी की खोजों से पता चला है कि पनीर दांतों के लिए भी लाभकारी होता है। उसमें पाए जाने वाले खनिज, लवण, कैल्शियम और फॉस्फोरस दांतों के इनैमल की रक्षा करते हैं।
  पनीर हमारी हड्डियों को भी मजबूती भी देता है। पनीर एक अकेला ऐसा खाद्य है जिसे हर तरह से खाया जा सकता है। चाहे सलाद में प्रयोग करें या सब्जी में और तो और आप इसकी मीठी चीज बनाकर भी इसका इस्तेमाल कर सकती हैं। आइए जानें पनीर के गुणों के बारे मेंं।
पाचन शक्ति बढ़ाए-
पनीर का सेवन करने से शरीर की रोग प्रतिरोधी क्षमता बढ़ती है। रोग प्रतिरोधी क्षमता मजबूत होती है तो बीमारियों से लड़ने की शरीर की क्षमता बढ़ जाती है।
गठिया से राहत-
गठिया रोग का सबसे बड़ा कारण कैल्शियम की कमी है। पनीर इस रोग से पीडितों के लिए सबसे अच्छा उपाय है। इस बीमारी का इलाज प्रोटीन, कैल्शियम और उच्च मात्रा में विटामिन और मिनरल्स का सेवन है और ये सभी चीजें पनीर में मौजूद होती है।
तनाव करे कम-
रात को नींद नहीं आती या फिर तनाव से ग्रस्त हैं तो सोने से पहले खाने में पनीर का सेवन करें, नींद अच्छी आएगी। ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि पनीर में ट्राईप्टोफन एमिनो एसिड पाया जाता है, जो तनाव कम करने और नींद को बढ़ाने में मददगार साबित होता है।
हड्डियों को बनाए मजबूत-
पनीर में मौजूद कैल्शियम हड्डियों को मजबूत बनाता है। पनीर में विटामिन ए, फास्फोरस और जिंक पाए जाते हैं। विटामिन बी भी पनीर में पाया जाता है, जो शरीर को कैल्शियम प्रदान करता है। खासतौर से बच्चों, गर्भवती महिलाओं और बुजुर्गों की हड्डियों को मजबूत करने में पनीर मदद करता है।
जानलेवा बीमारियों से बचाव-
पनीर बहुत सारी जानलेवा बीमारियों से बचाव भी करता है। जैसे कि कैंसर। पनीर खाने से शरीर में कैंसर के लिए जिम्मेदार सेल्स की ग्रोथ रूक जाती है। इसके अलावा, ये धमनियों की रूकावट को भी रोकता है जिससे कि दिल की कई बीमारियों का जोखिम कम हो जाता है।
    पनीर के इतने फायदों के बावजूद कुछ लोग इसे उतना हेल्दी नहीं मानते। पनीर को मोटापा बढ़ाने वाला आहार भी समझा जाता है। जबकि सही बात ये है कि पनीर में अधिक कैलोरी होती है और ये उन लोगों के लिए अच्छा है जिनका लाइफस्टाइल ऐसा हो जिसमें वो ज्यादा कैलोरी बर्न करते हों। दूसरी बात, पनीर को तैयार करने के तरीके पर खास ख्याल करना चाहिए। इसे काली मिर्च और नमक डालकर ऐसे ही कच्चा खाया जा सकता है। अगर आप इसे किसी डिश में इस्तेमाल कर रहे हैं तो इसे तले नहीं।
प्रोटीन का अच्छा स्रोत-
वेजिटेरियन लोग, जो प्रोटीन के लिए मीट नहीं खाते, पनीर सबसे अच्छा स्रोत है। 100 ग्राम प्रोटीन में 18 ग्राम प्रोटीन होता है जो कि उन लोगों के लिए बहुत अच्छा है जो मसल बिल्डिंग करना चाहते हैं। इसलिए अगर आप वेजिटेरियन है, अपने खाने में नियमित रूप से पनीर को शामिल करना न भूलें।फैट बर्न करने में मददगार
प्रोटीन और कैल्शियम के अलावा, पनीर में लीनोलाइक एसिड (linoleic acid) भी काफी मात्रा में पाया जाता है। ये एक तरह का फैटी एसिड होता है जो शरीर में फैट बर्निंग प्रॉसेस को तेज़ करता है और वज़न कम करने में मदद मिलती है। इसलिए वो लोग जो वजन कम करना चाहते हैं उन्हें अपने डाइट प्लान में पनीर की कोई डिश या फिर कच्चा पनीर शामिल करें 
देर तक देता है ऐनर्जी-
क्योंकि पनीर में काफी मात्रा में प्रोटीन होता है इसलिए ये शरीर में धीरे-धीरे एनर्जी रिलीज़ करता है। इस वजह से न तो ब्लड शुगर लेवल एकदम से बढ़ता है और न ही ये अचानक वाली ऐनर्जी देता है जो तुरंत कम भी हो जाती है। इसे खाने के बाद लंबे वक्त तक भूख का अहसास नहीं होता। इसलिए इसे स्नैक्स में भी लिया जा सकता है।रना चाहिए।
दांत बनाए मज़बूत-
पनीर में प्रोटीन के अलावा कैल्शियम भी होता है। इससे दांत और हड्डियां मज़बूत होती हैं। पनीर हालांकि दूध से बना उत्पाद है लेकिन जब पोषण की बात आती है तो ये दूध से बेहतर होता है। अगर आप दोनों को बराबर मात्रा में लें, तो पनीर में दूध से ज्यादा प्रोटीन होगा।बस,पनीर में कैलोरी थोड़ी ज्यादा होती है। अगर आप अपने दांत और हड्डियां मजबूत बनाना चाहते हैं तो पनीर को खाने में ज़रूर शामिल करें।
*रात के भोजन के साथ आप पनीर जरूर खाएं, लेकिन इस बात का ध्यान दें कि खाने के एक घंटे के बाद आप बिस्तर पर सोने के लिए जाए।
*सोते वक्तर हमारी मांसपेशियां और लंबाई बढ़ जाती है, जिसके लिये हमारे शरीर को प्रोटीन की आवश्यनकता पड़ती है। ऐसे में पनीर खाना आपके लिए अच्छा विकल्प है
*अगर आप संतुलित मात्रा में पनीर को खाते हैं तो कभी भी मोटे नहीं होंगे और आपकी बॉडी का साइज भी सही रहेगा।
कैसे है पनीर का पानी भी लाभकारी -
दूध को फाड़कर या फिर फटे हुए दूध से आप पनीर (Paneer) तैयार कर सकते हैं। इसको बनाते वक्त पानी बच जाता है तो उसे फेके नहीं बल्कि उसे रख लें। यदि आप बॉडी में प्रोटीन की मात्रा को बढ़ाना चाहते हैं तो उस पानी को संतुलित मात्रा में पी सकते हैं।
गठिया रोग से पीड़ित और हड्डियों की मजबूती के लिए फायदेमंद है पनीर. इसके अलावा  दांत को भी मजबूर रखता है और पाचन शक्ति को भी दुरुस्त रखता है। गर्भवती महिलाएं भी पनीर (Paneer) का सेवन कर सकती हैं क्योंकि यह बच्चे के संपूर्ण विकास में लाभदायक है।

एक टिप्पणी भेजें