16.1.17

जैतून के तेल के 10 बेहतरीन लाभ : 10 great benefits of olive oil


जैतून का तेल एक स्वास्थ्यवर्धक तेल है। इसका प्रयोग कई तरह की बीमारियों में लाभदायक होता है साथ ही यह त्वचा संबंधी समस्याओं और सौंदर्य बढ़ाने के लिए भी खूब प्रयोग किया जाता है। जानिए जैतून के तेल के यह 10 लाभ -
1.जैतून के तेल में एंटी-ऑक्सीडेंट की मात्रा भी काफी होती है। इसमें विटामिन ए, डी, ई, के और बी-कैरोटिन की मात्रा अधिक होती है। इससे कैंसर से लड़ने में आसानी होती है साथ ही यह मानसिक विकार दूर कर आपको जवां बनाए रखने में भी मदद करता है।
2॰जैतून के तेल में फैटी एसिड की पर्याप्त मात्रा होती है जो हृदय रोग के खतरों को कम करती है।
3॰इसमें संतृप्त वसा की मात्रा कम होती है जिससे शरीर में कॉलेस्टेरोल की मात्रा को भी संतुलित बनाए रखने में मदद मिलती है। इससे हृदयाघात का खतरा काफी कम हो जाता है।
 

4॰विटमिन ए, बी, सी, डी और ई के साथ-साथ जैतून के तेल में आयरन और पर्याप्त मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट्स भी होते हैं, जो बालों की कोमलता और मजबूती बढ़ाने में मदद करते हैं। यह ओलेइक एसिड और ओमेगा-9 फैटी एसिडका भी अच्छा स्रोत है।
5॰ लंबे समय तक जैतून के तेल को आहार में शामिल करने पर यह शरीर में मौजूद वसा को खुद ब खुद कम करने लगता है। इससे आपका मोटापा कम होता है, वह भी हेल्दी तरीके से।
6॰जैतून के तेल में कैल्शि‍यम की काफी मात्रा पाई जाती है, इसलिए भोजन में इसका उपयोग या अन्य तरीकों से इसे आहार में लेने से ऑस्टियोपोरोसिस जैसी समस्याओं से निजात मिलती है। 

7॰जैतून के तेल को मेकअप रिमूवर के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है। इसके प्रयोग से त्वचा रूखी भी नहीं होती और त्वचा का रंग गोरा होता है। यह त्वचा को पोषण प्रदान करता है। हफ्ते में तीन बार नींबू में रस में ऑलिव ऑयल मिला कर चेहरे की मालिश करें, इससे न सिर्फ झुर्रियां भागेगीं बल्कि चेहरे की रंगत में भी निखार आएगा। साथ ही बालों में लगाने से इनकी अच्‍छी कंडीशनिंग भी हो जाती है। उलझे बालों की समस्‍या भी सुलझेगी। थोडा सा ऑलिव ऑयल अपने होथों में लें और उन्‍हें रुखे और बेजान बालों पर लगाएं, इससे आपके बाल सिल्‍की हो जाएंगे। और अगर आपको डैंड्रफ की समस्‍या है तो वही भी कम हो जाएगी।जैतून के तेल द्वारा त्वचा की देखभाल करने हेतु इस तेल का प्रयोग करके नहाएं। जैतून का तेल / ऑलिव ऑयल चेहरे के लिए, एक बाल्टी में नहाने का पानी लेकर उसमें 5 चम्मच जैतून का तेल मिलाएं। इस तेल से नहाने के समय साबुन का प्रयोग ना करें। एक बार नहाकर निकलने पर आपकी त्वचा काफी मुलायम हो जाएगी।


8॰ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में किए गए एक शोध के अनुसार जैतून का तेल आंत में होने वाले कैंसर से बचाव करने में अहम भूमिका निभाता है। इसके अलावा यह रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद करता है। कोलोन कैंसर को दूर रखने में ऑलिव ऑयल ताजा फलों और सब्जियों की तरह प्रभावशाली है। एक अन्‍य जानकारी के अनुसार भोजन में ऑलिव ऑयल का इस्‍तमाल किया जाए, तो ब्‍लडप्रेशर को नियंत्रित रखा जा सकता है। इसके पीछे भी पोलीफिनोल्‍स की भूमिका है। यह तो हुई ऑलिव ऑयल का भोजन में प्रयोग करके हेल्‍दी रहने का तरीका। इसके अलावा इसका इस्‍तमाल उबटन, फेसमास्‍क आदि के रुप में भी किया जा सकता हे।
9॰त्वचा के लिए जैतून का तेल बहुत फायदेमंद है। रोजाना चेहरे पर इसकी मसाज करने से त्वचा की झुर्रियां समाप्त हो जाती हैं और त्वचा में नमी और चमक बनी रहती है। जापान में हुए एक महत्‍वपूर्ण शोध से पता चला है कि सन बाथ के बाद स्किन पर वजिर्न ऑलिव ऑयन के प्रयोग से ट्यूमर होने का खतरा कम हो जाता है। स्‍वास्‍थ्‍य विज्ञानियों का मानना है कि ऑलिव ऑयल के अंदर मौजूद फ्लेवसेनॉयड्स स्‍कवेलीन और पोरीफेनोल्‍स एंटीऑक्‍सीडेंट्स हैं, जो फ्री रैडिकल्‍स से सेल्‍स को डैमेज होने से बचाते हैं।
10.मधुमेह रोगियों के लिए यह काफी लाभदायक है। शरीर में शुगर की मात्रा को संतुलित बनाए रखने में इसकी खास भूमिका है। इसलिए आहार में भी इस तेल का प्रयोग किया जाता है।
और भी-
खराब जीवन शैली के कारण पुरूष और नारी दोनों में कामोत्तेजना की कमी आ जाती है। जिसके कारण वे एक दूसरे के करीब नहीं आ पाते हैं। पुरूषों में वृषणि (टेस्टास्टरोन) के कारण कामोत्तेजना का संचार होता है लेकिन इस हार्मोन की कमी से लिबीडो की समस्या उत्पन्न हो जाती हैं। जैतून के तेल के सेवन से शरीर में एस्ट्रोजेन (estrogen) का स्तर बढ़ जाता है जो टेस्टास्टरोन हार्मोन की कमी को पूर्ण करने में मदद करता है जिससे पुरूषों में लिबीडो की समस्या से कुछ हद तक राहत मिलता है। यहाँ तक कि जैतून के तेल के सेवन से महिलाओं में भी कामेच्छा का संचार होता है। अतः जैतून के तेल का संतुलित मात्रा में सेवन करें और अपने सेक्स लाइफ को संवारें।

कोई टिप्पणी नहीं: